मेरा भी बलात्कार या हत्या हो सकती है लेकिन मैं न्याय के लिये आखिरी सांस तक लड़ुंगीः आसिफा की वकील

0
1205
Deepika Rajawat speak about Asifa and other
Deepika Rajawat speak about Asifa and other
Download Our Android App Online Hindi News

नई दिल्ली – बहुचर्चित कठुआ बलात्कार और हत्याकांड में आठ आरोपियों के खिलाफ सुनवाई सोमवार (16 अप्रैल) से शुरू होगी। इससे पहले पीड़िता पक्ष की वकील दीपिका सिंह राजवत ने अपनी जान को खतरा बताया है। दीपिका ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में कहा, ‘मेरा भी बलात्कार हो सकता है या हत्या भी करवाई जा सकती है। शायद मुझे कोर्ट में प्रैक्टिस न करने दी जाए। मैं नहीं जानती कि अब मैं यहां कैसे रहूंगी। हिंदू विरोधी बताकर मेरा बहिष्कार किया गया है।’

आसिफा की वकील ने कहा कि अगर उनके साथ ऐसा बर्ताव होता है तो यह हर भारतवासी के लिए शर्म की बात होगी। एक बच्ची के साथ इतनी दरिंदगी के बाद भी न्यायिक प्रक्रिया में जो कोई भी रुकावट पैदा कर रहा है वह इंसान कहलाने के लायक ही नहीं है।

उन्होंने कहा कि वे अपनी और परिवार की सुरक्षा के लिए सुप्रीम कोर्ट से सुरक्षा की मांग करेंगी। दीपिका ने कहा, ‘मैं इस बारे में सुप्रीम कोर्ट को बताऊंगी। मैं बहुत बुरा महसूस कर रही हूं और यह निश्चित रूप से दुर्भाग्यपूर्ण है।’ उन्होंने कहा, ‘आप मेरी दुर्दशा की कल्पना कर सकते हैं लेकिन मैं न्याय के साथ खड़ी हूं और हम सब आठ साल की बच्ची के लिए न्याय चाहते हैं।’

क्या कहा दीपिका ने

दीपिका बीती शाम दिल्ली में बलात्कार के खिलाफ निकाले गये संसद मार्च में भी शामिल हुई थीं। उन्होंने इस मार्च को संबोधित करते हुए कहा था कि मेरी पांच साल की बेटी है मुझे अब डर लगने लगा है। कुछ दक्षिणपंथी ताकतें उन्हें लगातार धमकियां दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि ये लोग चाहते हैं कि लड़कियों को घरों में कैद करके रखा जाये उन्हें बाहर न निकलने दिया जाये।

बता दें कि जम्मू कश्मीर के कठुआ में इसी साल दस जनवरी को एक आठ वर्षीय बच्ची आसिफा गायब हो गई थी। जिसकी लाश 17 जनवरी को बरामद हुई थी। आसिफा के साथ कई दिनों तक लगातार बलात्कार किया गया था। इस बलात्कार में पुलिसकर्मी समेत मंदिर का पुजारी भी शामिल था। जम्मू के हिन्दुवादी संगठनों और हिन्दुवादी वकीलों ने बलात्कारियों के समर्थन में जूलूस निकाला था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here